Monday, 6 October 2014

'सावित्री' का यह कैसा पोस्टर




नई दिल्ली। कभी अपनी फिल्मों से तो कभी अपने ट्विट्स के चलते विवादों में रहने वाले बॉलीवुड के फिल्म डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा एक बार फिर विवादों में हैं। इस बार राम गोपाल वर्मा दक्षिण भारतीय फिल्म 'सावित्री' के पोस्टर को लेकर विवादों में हैं।


फिल्म 'सावित्री' के अब तक तीन पोस्टर लॉन्च हुए हैं। तीनों पोस्टर में नाबालिग लड़के को एक महिला को गलत ढ़ंग से देखते हुए दिखाया गया है। इसी को लेकर स्टेट कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (एससीपीसीआर) ने रामगोपाल वर्मा के खिलाफ बाल अधिकारों के उल्लंघन का केस दर्ज करवाया है और नोटिस भेजकर उनसे जवाब मांगा है। तो कई संगठनों ने रामू की इस फिल्म पर आपत्ति जताई है।


ज्ञात हो इससे पहले रामू फिल्म को लेकर एक विवादित ट्वीट किया था। रामू ने कहा था कि हर टीनेजर की अपनी सावित्री होती है। वह उसकी टीचर, पड़ोसन या फिर बहन की सहेली हो सकती है। उनके इस बयान को लेकर एससीपीसीआर ने कड़ी आपत्ति जताई थी। अब फिल्म के पोस्टर ने एक और विवाद को जन्म दे दिया है। बच्चों की खातिर इस मामले को गंभीरता से देखते हुए कमीशन ने रामू के खिलाफ केस दर्ज करवा दिया है।


गौरतलब है कि भारतीय कानून के अनुसार, बच्चों को अश्लील कार्यों में शामिल किए जाने या उनसे अश्लील कार्य कराने को अपराध माना गया है। भारतीय दंड संहिता की धारा 292-1 और 2 के अनुसार अश्लील या अभद्र दृश्यों में बच्चों को शामिल करना एक गंभीर अपराध है। इसके लिए पांच साल या उससे ज्यादा की सजा का प्रावधान है।


दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।


IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!


अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!






Categories:

0 comments:

Post a Comment