Tuesday, 7 October 2014

जयललिता को मिलेगी बेल या जेल, फैसला आज!




नई दिल्ली। आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार के मामलों में कर्नाटक की जेल में बंद तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की जमानत याचिका पर आज सुनवाई होगी। कर्नाटक हाइकोर्ट इस याचिका की सुनवाई करेगा। कर्नाटक हाइकोर्ट ने इससे पहले 30 सितंबर को सुनवाई करते हुए मामले को 6 अक्टूबर तक के लिए टाल दिया था। इससे पहले जयललिता को विशेष अदालत ने 4 साल की कैद की सजा सुनाई थी। जयललिता के समर्थन में तमिलनाडु में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं। इन प्रदर्शनों को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं।


कर्नाटक हाईकोर्ट के आसपास के एक किलोमीटर के इलाके में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले की कार्यवाही को देखने के 30 हजार लोग बैंगलुरू पहुंच सकते हैं। इसे देखते हुए बेंगलुरू पुलिस ने सोमवार को सुरक्षा का जायजा लिया।


जयललिता के जेल जाने के बाद से ही उनके समर्थन में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं। अलग-अलग जगहों पर लोगों ने जयललिता की सजा का विरोध किया है। सजा सुनाए जाने वाले दिन तो तमिलनाडु में लोगों ने हिंसक प्रदर्शन तक किए थे। तमिलनाडु सरकार के कई मंत्रियों और विधायक आज भी अपने विरोध प्रदर्शन को जारी रखेंगे।


जयललिता की सजा के विरोध में मंगलवार को तमिलनाडु में कई बस एसोसिएशनों ने हड़ताल का ऐलान किया है। सजा के विरोध में राज्य के कई स्कूलों और कॉलेजों को भी बंद रखने की मांग की गई है। राज्य में कई जगहों पर लोग जयललिता की रिहाई के लिए विशेष प्रार्थना और उपवास भी कर रहे हैं।


उधर इस सुनवाई से पहले मद्रास हाइकोर्ट ने एक आदेश में कहा कि तमिलनाडु में किसी भी स्कूल कॉलेजों को बंद नहीं रखा जाएगा। और अगर राज्य में कानून और व्यवस्था से जुड़ी किसी भी समस्या के पैदा होने पर राज्य सरकार जिम्मेदार होगी। बहरहाल लोगों की निगाहें अब कर्नाटक हाइकोर्ट पर टिकी हैं। जहां आज अम्मा के जेल से बाहर आने का फैसला होना है।


जयललिता से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें


दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।


IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!


अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!






Categories:

0 comments:

Post a Comment