Friday, 29 August 2014

यूपी में अभी 'बदस्तूर' जारी रहेंगे ...




लखनऊ। बिजली संकट से जूझ रहे यूपी के लोगों को अगले एक महीने और राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। कोयले की आपूर्ति में बाधा, गीला कोयला, उमस भरी गर्मी और राज्य के बिजलीघरों में कम विद्युत उत्पादन जैसी तमाम समस्याओं से निपटने में राज्य सरकार और पावर कॉरपोरेशन पिछले एक माह से जद्दोजहद कर रहे हैं मगर समस्या सुलझने की बजाय और विकराल होती जा रही है।


पावर कॉरपोरेशन के सूत्रों की मानें तो लोगों को बिजली कटौती से निजात पाने के लिए मौसम में परिवर्तन का इंतजार करना होगा। सितंबर के अंतिम सप्ताह तक रात और दिन के तापमान में दो से पांच डिग्री तक गिरावट के आसार हैं जिससे राज्य की भारी भरकम विद्युत मांग में कमी आएगी।


सूत्रों ने बताया कि अनपरा ताप संयंत्र में 500 मेगावाट की इकाई के सितंबर के अंत तक दुरुस्त होने के आसार हैं जबकि तापमान घटने से ताप संयंत्रों की उत्पादन क्षमता स्वत: बढ़ जाएगी और बारिश के कारण गीले कोयले की समस्या भी धूप खिलने से दूर हो जाएगी।


उधर ब्लैक आउट जैसी स्थिति से दो चार हो रहे ग्रामीण क्षेत्रों को पावर कॉरपोरेशन ने मामूली राहत दी। गांवों में बिजली आपूर्ति की अवधि को बढ़ाकर छह घंटे कर दिया गया है। इससे पहले कल तक ग्रामीण अंचलों में चार घंटे तक बिजली आपूर्ति की जा रही थी। नए शेड्यूल के मुताबिक अब तक कटौतीमुक्त रहे औद्योगिक क्षेत्र में रोजाना चार घंटे बत्ती गुल रहेगी। जिलों में अब 16 घंटे और महानगरों में 20 घंटे 51 मिनट बिजली आपूर्ति होगी।


दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।


IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!


अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!






Categories:

0 comments:

Post a Comment